चाम्पा

👁️नेत्रदान-महादान👁️ श्रीमती विमला देवी मोदी जी के स्वर्गवास के पश्चात नेत्रदान का साहसिक निर्णय मोदी परिवार का मानव समाज के लिए अनुकरणीय पहल,,,,

चांपा बैद्यनाथ राइस मिल के संचालक सदर बाजार एवं कोरबा रोड़ चांपा निवासी सुशील मोदी सुनील मोदी की माता जी व भाजपा के वरिष्ठ नेता ग्यारसीलाल मोदी की भाभी
तथा मिट्ठूलाल मोदी की “”धर्मपत्नी”” श्रीमती विमला देवी मोदी 74 वर्ष आयु में 01 जून 2022 बुधवार को स्वर्गवास हो गया था।

👁️नेत्रदान-महादान👁️     

श्रीमती विमला देवी मोदी के स्वर्गवास के पश्चात उसी दिन परिवार के सभी सदस्यों ने साहसिक निर्णय लेते हुए तत्काल मेडिकल डाक्टरों के समूह से संपर्क किया और उन्हें आमंत्रित कर पूज्यनीय श्रीमती विमला देवी मोदी का नेत्रदान करवाकर पूरे मानव समाज में अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है

अम्बे न्यूज के संपादक पप्पू थवाईत से बात करते हुए सुशील मोदी ने उस दुखद दिन की आपबीती बताया कि- 01/06/2022 को दोपहर 2. 47 मिनट पर मम्मी अंतिम सांस ली। 4:30 बजे सायंकाल पापा बोले कि तुम्हारी मम्मी का नेत्रदान करवा देते है। मैंने किसी भी प्रकार से मना नही करते हुए फौरन जिला अस्पताल जांजगीर में मैंने बात करी । उन्होंने कहा हमारे यहाँ ऐसी कोई व्यवस्था नही है।पर हम लोग बिलासपुर मेडिकल कॉलेज एवं रायपुर मेडिकल कॉलेज में बात करके आपको जानकारी देते है


कुछ देर पश्चात जांजगीर से जानकारी मिली कि रायपुर की टीम आ जाती किंतु समय पर डॉक्टर की टीम नही आ सकेगी। पर उन्हीने प्रयास कर बिलासपुर मेडिकल कॉलेज सिम्स से 5 डॉक्टर आपने वाहन से शाम 6:30 बजे पहुंच कर मम्मी का ऑपरेशन करके दोनों आँख रात्रि 8 बजे ले गए
चाम्पा के डॉक्टर मनोहर गुलाबानी के छोटे भाई मुकेश ने भी डॉक्टर से बातचीत करते हुए अथक प्रयास किया


पापा की पहले से कोई नेत्र दान की मंशा या किसी भी प्रकार की कोई मेडिकल फार्म भरा नही गया था। अचानक ही एक सोच सामने आई और मम्मी का नेत्र दान में सफलता मिली। पापा का कहना है कि शरीर नश्वर है आज अगर किसी जरूरत मंद को आंख से किसी का भला होता है और किसी को दिशा मिलती है।वह सबसे बड़ा दान होता है।

Related Articles

Back to top button